Article of the Month - Astroindusoot

Astro Articles

ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस बार पड़ेगी भीषण गर्मी 25 मई से 2 जून तक रहेगा नौ-तपा

ज्योतिषीय गणना के अनुसार हर वर्ष मई के अंतिम सप्ताह से जून के प्रथम सप्ताह के बीच 15 दिन के लिए सूर्य "रोहिणी नक्षत्र" में गौचर करता है और खगोलीय दृष्टि से इन 15 दिनों के समय में पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी कम हो जाती है और पृथ्वी पर सूर्य की किरणें "बिलकुल सीधी लंबवत" पड़ती है जिस कारण ये समय साल का सबसे गर्म और अधिक तापमान वाला समय होता है पर सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में संचार करने के इन 15 दिनों में भी विशेष रूप से शुरू के 9 दिनों को नौ-तपा कहा जाता है क्योंकि इस समय में घूप बिलकुल ताप यानि के अग्नि के सामान हो जाती है और इन नौ दिनों में तापमान और गर्मी अपने चरम पर पहुँच जाते हैं और इस वर्ष 25 मई को सूर्य का रोहिणीं नक्षत्र में प्रवेश हो चुका है इसलिए इस बार 25 मई से 2 जून के बीच नौ-तपा रहेगा जिस कारण 2 जून तक धूंप गर्मी और तापमान अपने चरम पर रहेंगे, इसलिए आगे आने वाले दिनों में आपको अपने शरीर और स्वास्थ को गर्मी से काफी बचाकर रखना पड़ेगा। हालाँकि नौ-तपा के ये नौ दिन तो हर वर्ष ही पड़ते हैं लेकिन इस बार गर्मी के मौसम को लेकर नौ-तपा के अलावा भी एक और बात बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण है..जैसा के दिसंबर 2019 में पड़े सूर्य ग्रहण और नकारात्मक ग्रहस्थिति के कारण कोरोना महामारी का सामना तो इस समय ग्लोबली हम सभी कर ही रहे हैं पर इस बार गर्मी के मौसम को लेकर भी गौचर ग्रहों की स्थिति कुछ ऐसी बनी हुई है जो सामान्य से बहुत अधिक गर्मी और तापमान को दिखा रही है इसलिए इस बार गर्मी की समस्या भी सभी लोगों को बहुत ज्यादा परेशान करने वाली है, असल में इस साल सितम्बर तक केतु ग्रह अग्नि तत्व राशि "धनु" में संचार करेगा और इसके अलावा हाल ही में मकर राशि में संचार कर रहे शनि और बृहस्पति दोनों ग्रह (11 और 14 मई को) वक्री हो गए हैं और वक्री होने के कारण अब ये दोनों ग्रह भी अग्नि तत्व राशि "धनु" में होने का ही प्रभाव दे रहे हैं और शनि व बृहस्पति के वक्री होने के बाद से ही पिछले दस बारह दिनों में गर्मी और धूप का तेज बहुत बढ़ गया है और 25 मई को सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में आने के बाद कई शहरों में पारा 40 से 45 के बीच पहुँच गया है, अब यहाँ विशेष बात ये है के सितम्बर तक केतु शनि और बृहस्पति तीनो बड़े ग्रहों का प्रभाव अग्नितत्व राशि धनु में इसी प्रकार बना रहेगा जिससे इस वर्ष वातावरण में अग्नि तत्व की अधिकता रहेगी जिस कारण ज्योतिषीय दृष्टि से इस बार गर्मी समान्य से कहीं ज्यादा और बहुत प्रचंड रूप में पड़ेगी और “इसकी शुरुआत 25 मई को नौतपा शुरू होने के साथ हो चुकी है” जिस कारण अब बहुत तेजी से तापमान और दिन में धूंप का तेज अपने चरम पर पहुँच जायेगा, तो ज्योतिषीय दृष्टि से तो 2 जून तक नौ-तपा के दौरान धूंप का तेज अपने चरम पर रहेगा ही पर इसी के साथ मौसम वैज्ञानिकों का भी यही मानना है के अगले कुछ दिनों में दिन का पारा 48 डिग्री तक पहुँच सकता है तो इससे स्पष्ट होता है के ज्योतिष विद्या अपनेआप में एक बहुत गहन और परिष्कृत विज्ञान है।

नौ-तपा शुरू होने के बाद गर्मी से होने वाली स्वास्थ समस्याएं भी बढ़ने लगती हैं जैसे शरीर का जल्दी डिहाइड्रेट होना, उलटी पेचिस (डायरिया) आदि इसलिए अब कोरोना के बचाव के साथ साथ आपको प्रचंड धूंप और भीषण गर्मी से भी सावधानी बरतनी होगी.. इसलिए आप जब भी घर से बाहर जाएँ तो सर को ढक कर रखें धूंप से बचने का प्रयास करें और दिन भर में पानी के अलावा बांकी तरल पेय पदार्थों जैसे निम्बू पानी, छाछ, लस्सी, जूस ताजे फल आदि का सेवन भी नियमित रूप से करते रहें जिससे आप इस बार पड़ने वाली भीषण गर्मी के प्रकोप से बच सकें।

ज्योतिषीय दृष्टि से नौ-तपा के दौरान जल और शीतल पेय पदार्थों का दान बहुत ही शुभ और कल्याणकारी माना गया है इसलिए इस समय से आप सभी अपने स्तर पर अपनी क्षमता के अनुसार जरूरतमंद व्यक्तियों को जल, शीतल पेय पदार्थों और जल रखने के पात्र जैसे घड़े सुराही आदि का दान अवश्य करें।

।। श्री हनुमते नमः।।

अगर आप अपने जीवन से जुडी किसी भी समस्या किसी भी प्रश्न जैसे – हैल्थ, एज्युकेशन, करियर, जॉब मैरिज, बिजनेस आदि का सटीक ज्योतिषीय विश्लेषण और समाधान लेना चाहते हैं तो हमारी वैबसाईट पर Online Consultation के ऑप्शन से ऑनलाइन कंसल्टेशन लेकर अपनी समस्या और प्रश्नो का घर बैठे समाधान पा सकते हैं अभी प्लेस करें अपना आर्डर कंसल्ट करें ऑनलाइन Customer Care & WhatsApp - 9068311666

ASTRO ARTICLES