Article of the Month - Astroindusoot

Astro Articles

जानिए शुक्र की दशा किन लोगों को देती हैं धन समृद्धि और वैभव

जैसा के आप जानते ही हैं के शुक्र को ज्योतिष में धन-समृद्धि आर्थिक उन्नति ऐश्वर्य और विलासिता का ग्रह माना गया है और हमारे जीवन में सभी भौतिक सुख सुविधाएँ शुक्र ग्रह द्वारा ही नियंत्रित होती हैं, जहाँ कुंडली में कमजोर शुक्र जीवन में आर्थिक संघर्ष उत्पन्न करता है वहीं मजबूत शुक्र जीवन में मजबूत आर्थिक स्थिति और वैभव भी देता है पर शुक्र का विशेष शुभ फल भी शुक्र की दशाओं (महादशा अन्तर्दशा) में ही विशेष रूप से मिलता है, शुक्र की दशा भी सभी को एक जैसा परिणाम नहीं देती जिन लोगों की कुंडली में शुक्र शुभ फलकारक ग्रह होता है उन्हें शुक्र की दशा में अच्छे परिणाम मिलते हैं लेकिन शुक्र की दशा में भी विशेष रूप से धन समृद्धि और वैभव की प्राप्ति उन लोगों को होती है जिनकी कुंडली में शुक्र मजबूत और अच्छी स्थिति में होता है।

समांन्य रूप से तो वृष मिथुन कन्या तुला मकर और कुम्भ लग्न वाले लोगों की कुंडली में शुक्र शुभ फलकारक ग्रह होने से इनके लिए शुक्र की दशा सकारात्मक परिणाम देने वाली होती है पर कुंडली का कारक ग्रह होने के साथ साथ शुक्र की प्लेसमेंट भी अच्छी होनी चाहिए तभी अच्छे रिजल्ट्स मिलते हैं।

अब देखते हैं के शुक्र की दशा में भी विशेष धन समृद्धि और वैभव की प्राप्ति किन स्थितियों में और किन लोगों को होती है, यहाँ सबसे पहली बात तो ये है के केवल कुंडली का शुभ कारक ग्रह ओने पर ही शुक्र की दशा में अच्छे परिणाम मिलेंगे ऐसा नहीं है, किसी भी लग्न की कुंडली हो अगर शुक्र कुंडली में शुभ भावों केंद्र त्रिकोण आदि में है और मजबूत स्थिति में है तो शुक्र की दशा आपको अच्छे परिणाम देगी... पर विशेष रूप से जिन लोगों की कुंडली में शुक्र माल्वय योग बना रहा हो अर्थात स्व या उच्च राशि (वृष तुला मीन) में होकर पहले चौथे सातवे या दसवे भाव में हो तो ऐसे लोगों की कुंडली में शुक्र की दशा आने पर उनके जीवन में धन समृद्धि बढ़ती है विभिन प्रकार की सुख सुविधाएँ मिलती है वैभवपूर्ण जीवन प्राप्त होता है और मन की सभी महत्वकांक्षाएं पूरी होती हैं। जिन लोगों की कुंडली में दूसरे पांचवे नौवे या ग्यारहवे भाव में होकर शुक्र स्व या उच्च राशि में हो ऐसे लोगों को भी शुकी की दशा में धन समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती हैं, बारहवे भाव में बैठा शुक्र भी राजयोग देता है इसलिए जिन लोगों की कुंडली में शुक्र बारहवे भाव में हो और पाप ग्रहों से पीड़ित ना हो तो ऐसे में भी शुक्र की दशा व्यक्ति को विशेष धन समृद्धि देती है। जिन लोगों की कुंडली में शुक्र और चन्द्रमाँ का योग केंद्र या त्रिकोण भाव में हो उनके लिए भी शुक्र की दशा जीवन में समृद्धि बढ़ाने वाली होती है।

तो जिन लोगों की कुंडली में शुक्र यहाँ बताई गयी कुछ विशेष स्थितियों में होता है उनकी कुंडली में जब शुक्र की दशा आती है तो उन्हें विशेष समृद्धि मिलती है और मन की सभी अपेक्षाएं पूरी होती हैं।

।। श्री हनुमते नमः।।

अगर आप अपने जीवन से जुडी किसी भी समस्या किसी भी प्रश्न जैसे – हैल्थ, एज्युकेशन, करियर, जॉब मैरिज, बिजनेस आदि का सटीक ज्योतिषीय विश्लेषण और समाधान लेना चाहते हैं तो हमारी वैबसाईट पर Online Consultation के ऑप्शन से ऑनलाइन कंसल्टेशन लेकर अपनी समस्या और प्रश्नो का घर बैठे समाधान पा सकते हैं अभी प्लेस करें अपना आर्डर कंसल्ट करें ऑनलाइन Customer Care & WhatsApp - 9068311666

ASTRO ARTICLES